HootSoot official
Browsing Category

हिंदी

आज भी जाति, रंग और भेदभाव में फंसी हमारी मानसिकता!

मुझे आज भी याद है वो कांटे की तरह चुभने वाला नजारा  मुझे जो शिवली गांव के स्कूल में देखने को मिला. जहां पर बच्चे ये गाना गाकर एक दूसरे को चिढ़ाते थे, ‘एक वाला एक्का, दो वाला दुल्हिन, तीन वाला तेली, चार वाला चमार और पांच वाला पंडित.’

पंजाब यूनिवर्सिटी में शेरनी ‘कनुप्रिया’ का बोलबाला! जानें इनके बारे में…

कनुप्रिया एक ऐसी लड़की है जो प्रेरणा में यकीन करती हैं, न कि आदर्शों को मूर्ति की तरह पूजने में. जनता के मुद्दों को उठाना, किसानों के लिए काम करना, मजदूरों की समस्याओं को समझना, अपने वक्त से मुठभेड़ करना, हर जागे हुए इंसान का फर्ज है.

गणपति बप्पा मोरया!.. पुढ़च्यावर्षी लवकरया! करिए भारत के दस सबसे मश्हूर गणपति मंदिरों के दर्शन

आस्था एक ऐसी शक्ति है जिसके सूत्रों की तलाश पुराणों या फिर इतिहास के पन्नों में नहीं की जा सकती. आस्था में सिर्फ और सिर्फ महिमा प्रभावी होती है

इन वजहों से नहीं करती लड़कियां प्यार में पहले पहल!

प्यार इस दुनिया का सबसे अच्छा अहसास है. ये कई फीलिंग्स का एक ऐसा मिक्सचर है जो हमको कभी बहुत खुश कर देता है, तो कभी दुखी. कभी कंफ्यूज़ करता है तो कभी कॉन्फिडेंट. कभी बेबाक तो कभी निशब्द! होता है ना ऐसा.

क्या आप हैं इन चीजों से आजाद…तो मनाएं आज़ादी का जश्न…

आज़ादी! देशभक्ति वाले गीत,स्वतंत्रता दिवस की बधाईयां और चारों ओर सिर्फ तीन रंग से घिरा भारत. स्कूल में कल्चरल प्रोग्राम, टीवी पर लाइव शो, शहीदों को नमन, अवार्ड और बहुत सारे देशभक्ति के किस्सों से भरा आज़ादी का दिन.

वो जीवन है, मृत्यु भी!….जानिए बाबा शिव के 12 ज्योतिर्लिंगों के बारे में

राम भी उसका रावण उसका, जीवन उसका मरण भी उसका तांडव है और ध्यान भी वो है, अज्ञानी का ज्ञान भी वो है.... हर-हर महादेव! .... ये एक ऐसा जादुई मंत्र या जीवन का आधार कह लीजिए, जो मेरे कानों के साथ-साथ दिल और दिमाग को सुकून देता हैं. जब भी…

एक चुस्की चाय के साथ खुलता ‘यादों का पिटारा’

स्ट्रेस हो या एंजॉयमेंट वाले पल, उन तमाम यादों का पिटारा खुल ही जाता है जब हम लंबे अरसे के बाद फैमिली या अपने पुराने दोस्तों के साथ चाय पीने बैठते हैं. चाय सभी के लिए बहुत फायदेमंद है. ये सेहत के साथ ही आपकी फीलिंग्स का भी पूरा ख्याल रखती…